भूतो से भरा एक बस जो डीजल से नही खून से चलती है।

Share this Article
Reading Time: 7 minutes
95 Views

हेलो दोस्तों आज की कहानी पड़ोसी देश चीन की है। यह एक ऐसे बस की कहानी है जो सफर के लिए निकला तो सही मगर अपने सही मंजिल तक नहीं पहुंच पाया।
यह कहानी 14 नवंबर 1995 की है। रात का समय था। चारों ओर अंधेरा,कोहरे से भरी हुई सड़क, ठंड का मौसम था क्योंकि नवंबर का महीना चल रहा था। चीन की बस नंबर 375 अपने निर्धारित समय पर Yuan Ming Huan’s बस टर्मिनल से Xiang Shan (Fragrant Hill) के लिए निकलती है। बस पूरे यात्रियों से भरी हुई थी मगर कुछ किलोमीटर चलने के बाद बस से देखते ही देखते एक-एक करके यात्री अपने-अपने बस स्टॉप पर उतरते चले गए।

china 375 bus route images -stories magic

अब बस पूरी तरह से खाली हो चुकी थी। बस में अब एक ड्राइवर और एक महिला कंडक्टर बच गई थी। Fragrant Hill का सफर अभी लंबा था क्योंकि अभी और 7 स्टॉप बचे हुए थे लगभग आधी रात का समय हो चुका था चारों और शांति जिस रास्ते से यह बस जा रही थी वह रास्ता भी गांव और जंगलों के बीच से होता हुआ जा रहा था।

1-2 स्टॉप के गुजरने के बाद बस नंबर 375 समर पैलेस के बस स्टॉप पर रूकती है। बस स्टॉप पर एक वृद्ध महिला एक 19 साल का लड़का और एक कपल खड़े थे। बस रुकते ही वे लोग बस में दाखिल हो जाते हैं। यंग कपल जो थे वह ड्राइवर के पीछे वाली सीट पर जाकर बैठ जाते हैं और लड़का साइड वाली सीट जो बस के गेट के पास होती है वहां जाकर बैठ जाता है और वृद्ध महिला उस लड़के के ठीक पीछे वाली सीट पर बैठ जाती है।

bus route 375 china horror-stories magic

अब बस में कुल 6 लोग थे 4 यात्री और 2 बस कर्मचारी बस अपनी मंजिल की ओर चल पड़ती है। बस के अंदर का माहौल बिल्कुल शांत था। बस जिस रास्ते से होकर जा रही थी उस रास्ते पर कहीं भी कोई इंसान नजर नहीं आ रहा था। बस के अंदर और बाहर एकदम शांत माहौल इतना शांत माहौल था कि बस की इंजन की आवाज यात्रियों के कानों तक आ रही थी। लगभग 4 स्टॉप ऐसे ही गुजरने के बाद बस ड्राइवर को 2 लोग सड़क के किनारे खड़े नजर आए

यह देख पहले तो ड्राइवर ने सोचा बस को नहीं रुकूंगा क्योंकि वह जहां खड़े थे वह कोई बस स्टॉप नहीं था। जंगलों के बीच एक सड़क पर खड़े थे फिर महिला कंडक्टर के समझाने पर ड्राइवर ने बस रोक दिया क्योंकि यह आखरी बस थी इस रूट की और उन्हें कोई दूसरा बस भी नहीं मिलेगा। बस रुकते ही वे दो लोग बस के पीछे वाले दरवाजे से अंदर दाखिल हुए बस में सफर कर रहे यात्रियों और बस कर्मचारियों की नजर जब उन पर पड़ी तब वह लोग डर गए क्योंकि वह 2 लोग नहीं बल्कि 3 लोग थे

dead three people route number 513-stories magic

उनमें से 2 व्यक्तियों के चेहरे बिल्कुल सफेद थे आम लोगों से भी ज्यादा सफेद और तीसरे व्यक्ति को उन्होंने अपने कंधे के सहारे देकर खड़ा रखा था। तीसरे व्यक्ति का सर नीचे की ओर था बाल बिखरे हुए और उसका चेहरा बिल्कुल ढका हुआ था। तीनों लोगों ने चीन के प्राचीन काल के कपड़े पहने हुए थे जो कि बस में सफर कर रहे सभी यात्रियों को आश्चर्य पूर्ण लगा। तीनो व्यक्ति बस के सबसे पीछे वाली सीट पर जाकर बैठ गए। बस में अशांति ना फैले इसके वजह से महिला कंडक्टर ने लोगों को समझाया हो सके यह लोग किसी नाटक कंपनी में काम करते हो और देर रात होने के वजह से,घर जाने की जल्दी में वे अपना कपड़ा उतारना भूल गए हो। बस नंबर 375 यहां से आगे की ओर बढ़ी अब बस में यहां से कुल 9 लोग सवार थे 6 लोग जो पहले से इस बस में थे 3 नए लोग अब बस में आ गए थे। बस में पहले से जो वृद्ध महिला सफर कर रही थी वह बार-बार पीछ की तरफ मुड़ मुड़ कर देख रही थी। अगला स्टॉप आ गया यंग कपल जो थे वह इसी स्टॉप पर उतर जाते हैं।

horror route no 513 china-stories magic

बस नंबर 375 फिर से अपनी मंजिल की ओर बढ़ती है। अब बस में कुल 7 लोग थे बस यहां से आगे बढ़ती है। अभी भी वह वृद्ध महिला बार-बार मुड़कर उन 3 लोगों को देख रही थी। वे लोग उनको कुछ अजीब लग रहे थे मगर बस में मौजूद बाकी सारे लोग अपने आप में व्यस्त थे। महिला कंडक्टर ड्राइवर से बात करने में व्यस्त थी वहीं वृद्ध महिला के आगे बैठा हुआ लड़का बस की खिड़की से बाहर का नजारा देखने में व्यस्त था। करीब 2-3 किलोमीटर ऐसे ही आगे जाने के बाद वृद्ध महिला जोर से चिल्लाती है और अपने आगे बैठे हुए लड़के को एक तमाचा लगा देती है और कहती है कि कहां है मेरा पर्स ?? जल्दी दो यह सुनकर महिला कंडक्टर वृद्ध महिला की ओर आती है और कहती है। आपका पर्स इसने नहीं चुराया यह तो आपके आगे बैठा हुआ है। लड़के ने भी यही बात वृद्ध महिला को समझाई मगर वृद्ध महिला अपनी बातों पर अडी हुई थी और लड़के को पुलिस के हवाले करने की बात करने लगी ड्राइवर और महिला कंडक्टर ने वृद्ध महिला को बहुत समझाया मगर वह नहीं समझी और ड्राइवर को अगले स्टॉप पर बस रोकने के लिए बोली।

bus 375 route no china old women and young guy-stories magic

बस रुकते ही वृद्ध महिला ने लड़के का कॉलर पकड़कर घसीट कर नीचे उतारा बस वापस अपने मंजिल की ओर निकल गई। अपने साथ हुए इस घटना से लड़का बहुत परेशान हो चुका था। लड़के ने वृद्ध महिला से बोला मैंने आपका पर्स नहीं चुराया और आपकी यह गलत इल्जाम के वजह से मेरी यह आखरी बस छूट गई। अब मैं घर कैसे जाऊंगा और आप मुझे कौन से पुलिस स्टेशन लेकर जा रही है क्योंकि यहां अगल बगल कोई पुलिस स्टेशन नहीं है। तभी वृद्ध महिला एक लंबी गहरी सांस भरने के बाद लड़के से कहती है। मैंने तुम्हें पुलिस स्टेशन ले जाने के लिए बस से नहीं उतारा और ना ही तुमने मेरा पर्स चुराया है।

यह इल्जाम मैंने तुम्हारी जान बचाने के लिए लगाया था। यह सुन लड़का चौक गया और कहता है कि आपने मेरी जान कैसे बचाई ?? वृद्ध महिला कहती है याद है तुम्हें वह 3 व्यक्ति जो बस में आखरी में चढ़े थे। मैं पूरे रास्ते उन पर नजर रखी हुई थी। मुझे शुरू से वे लोग अजीब लग रहे थे रास्तों के दौरान जब मैं उनकी और देख रही थी उनके कपड़े तेज हवाओ के कारण थोड़ी देर के लिए हवा में उड़े यह देख मैं डर गई क्योंकि उनके पैर ही नहीं थे और मुझे अपनी आंखों पर विश्वास नहीं हुआ ऐसा लगा जैसे मैंने कोई सपना देखा। मैं लगातार उन पर नजर रखी हुई थी तभी तीसरे व्यक्ति जो उन दोनों के कंधों पर था उसका चेहरा मुझे दिखा। यह देख मैं समझ चुकी थी वह कोई इंसान नहीं है। मुझे जितना जल्दी हो सके उस बस से मुझे उतरना था और तुम्हारी भी जान बचाना था इसलिए मैंने अपने पर्स का झूठा इल्जाम तुम्हारे ऊपर लगाया कि उन लोगों को कोई शक भी ना हो और हम दोनों उस बस से सही सलामत नीचे भी उतर जाए। यह सुन लड़के ने कहां अगर यह सच था तो आपने बस के कर्मचारियों को क्यों नहीं बताया। वृद्ध महिला ने कहा मैंने महिला कंडक्टर को इस वाक्य के बारे में बताया मगर उन्होंने यह बात गंभीर रूप से नहीं ली और मुझे आंखों का धोखा हुआ है ऐसा समझाने लगी।


वृद्ध महिला और लड़का तुरंत वहां से पुलिस स्टेशन जाते हैं और पुलिस कर्मचारियों को अपने साथ घटी इस घटना के बारे में बताते हैं मगर पुलिस कर्मचारी उनके बातों पर यकीन नहीं करते और उन्हें घर जाने की राय देते हैं। साथ में पुलिस यह आश्वासन देती है कि अगर इस तरीके की घटना हुई है तो उसके ऊपर पुलिस कार्रवाई जरूर करेगी। वृद्ध महिला और लड़का अपने अपने घर चले जाते हैं और अगले दिन सुबह 15 नवंबर को पुलिस को सूचना मिलती है की Yuan Ming Huan’s बस टर्मिनल से Fragrant Hill तक जाने वाली रूट बस नंबर 513 गायब है और वह अपने निर्धारित बस टर्मिनल अभी तक नहीं पहुंची।

route number china bus police china-stories magic

पुलिस को यह सूचना मिलने के बाद पुलिस को यह समझ आ गया था की वृद्ध महिला और वह लड़का जो कह रहे थे वह सच था। तुरंत पुलिस वृद्ध महिला और लड़के को पुलिस स्टेशन बुलाती हैं और उनकी बताई बात को रिकॉर्ड करती है और यह देखते ही देखते पूरे चीन के Beijing में यह खबर आग की तरह फैल गई। रूट नंबर 375 कि बस गायब है। पुलिस की काफी मशक्कत और छानबीन करने के बाद भी बस नंबर 375 की कोई जानकारी नहीं मिल रही थी। यहां तक की पुलिस ने सारे सीसीटीवी कैमरे खंगाले मगर कहीं भी उस बस का नामोनिशान कोई अता पता नहीं था। कि वह बस कहां है??

तारीख आता है 16 नवंबर की पुलिस को सूचना मिलती है। एक बस नदी में गिरी हुई है। पुलिस मौके पर जाती है और उस बस को नदी से बाहर निकलती है पुलिस यह देख चौक जाती है क्योंकि जो बस नदी में गिरी हुई थी वह बस,बस नंबर 513 थी। यह बस Fragrant Hill से करीब 100 किलोमीटर दूर एक नदी में पुलिस को मिली।

bus no 375 china images-stories magic

पुलिस क्रेन की मदद से उस बस को नदी से बाहर निकालती है। बस के अंदर कुल 2 मरे हुए लोगों की लाश थी। जिनमें से एक ड्राइवर की थी और एक महिला कंडक्टर की चौंकाने वाली बात यह थी कि उन दोनों की लाशें बिल्कुल सड़ चुकी थी और उनकी लाशों से बहुत बदबू आ रही थी। मौके पर मौजूद डॉक्टरों को यह बात चौका रही थी कि मात्र 2 दिनों में कोई भी मरे हुए व्यक्ति की डेड बॉडीज इतनी नहीं सड़ती।
अभी तो और भी बहुत सारी चीजें चौंकाने वाली थी।
बस के मालिक ने बताया बस मैं इतना फ्यूल नहीं था कि वह 100 किलोमीटर आगे तक जा सकती थी??
जब पुलिस वालों ने बस की फ्यूल टैंक खोलकर देखा तो फ्यूल टैंक ताजे खून भरे हुए थे।
यह घटना 1995 की सबसे बड़ी घटना थी और इस घटना को ग्लोबल टाइम्स के अखबार ने अपने चैनल पर दिखाया था। बाल बाल बचे वृद्धि महिला और उस लड़के को लोग भाग्यशाली समझने लगे
आखिर कौन थे वह तीन लोग क्या वह सचमुच भूत थे???

अगर आपको यह लेख पसंद आया है, तो कृपया हमें Twitter, Facebook और Instagram पर फॉलो करे | अध्ययन करने के लिए धन्यवाद |

Leave a Comment